Friday, June 1, 2012

निराश होना जायज है.....

1 comment:

  1. लोगों की सोचता ही कौन है, सभी अपनी अपनी सोचते हैं बस सत्‍ता में आने के लि‍ए

    ReplyDelete